मध्य प्रदेश

सुरजेवाला ने कहा कि जनता के साथ किया गया, छल ,

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री ने अगस्त माह में बुंदेलखंड के नौगांव में एक कार्यक्रम में जनता से कहा कि मुझे बताया गया है कि बिजली के बिल बहुत ज्यादा आ रहे हैं और जनता से पूछा तो जनता ने प्रतिज्ञा व्यक्त करते हुए कहा कि हां बहुत ज्यादा आ रहे हैं तब शिवराज सिंह ने मंच से घोषणा की कि मैं गरीब जनता को उनके कनेक्शन 1 किलोवाट तक के हैं उनके बिजली के बिल छोड़ता हूं और समीक्षा करके बढ़े हुए बिल में भरूंगा अर्थात शिवराज सरकार भरेगी शिवराज सिंह की इस घोषणा के बाद मध्य प्रदेश शासन के ऊर्जा विभाग ने 1 सितंबर 2023 को एक आदेश जारी कर दिया आदेश की काफी संलग्न a1 है बेईमानी यही से शुरू हो गई बिल माफी की बजाय 1 किलो वाट तक के सभी उपभोक्ताओं के बिलों की राशि को टेंपरेरी तौर से स्थगित यानी स्थगित कर दिया एक फूटी कौड़ी का बिल माफ नहीं किया और एक उपभोक्ता का एक पैसे का बिल माफ नहीं हुआ है शिवराज सरकार का धोखा और फरेब और खिलौना है 1 सितंबर 2023 a1 का आदेश जारी होने से पहले ही मध्य प्रदेश के गरीब बिजली उपभोक्ताओं के साथ ग्रेट सर्द्यान्न किया गया तीनों विद्युत वितरण कंपनी अर्थात कुरुक्षेत्र पश्चिम क्षेत्र मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनियों ने 1 किलो वाट के लगभग 80 से 90% उपभोक्ताओं के भर को 2 किलोवाट कर दिया ऐसे तकरीबन 18 20 लाख उपभोक्ता है यह है इसलिए किया था कि शिवराज सिंह द्वारा टेंपरेरी बिल स्थगन करने का लाभ भी गरीब परिवारों को ना मिल सके मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने पूर्व क्षेत्रविद्युत वितरण कंपनी के अधीन है कि जिलों के 38 डिवीजन के दाता का जब अध्ययन किया तो यह पाया कि 385953 उपभोक्ताओं को बगैर सूचित किया उनके बाहर की वृद्धि कर दो किलोवाट कर दिया गया इन सभी 385953 उपभोक्ताओं के ओरिजिनल नोट में पड़े हुए नोट की प्रतिलिपि एक पेन ड्राइव में हम आपको दे रहे हैं अब धोखे का तीसरा पहलू कपटी बिजली विभाग द्वारा प्रति किलो वाट पर 150 यूनिट बिजली की खपत का आकलन किया गया है यानी अगर गरीब उपभोक्ताओं का लोड 2 किलोवाट कर दिया गया तो उसकी कलित खपत की 300 यूनिट हो जाएगी अर्थात कर रास्ते से जब पर ढाका इस बात से स्थापित होता है कि शिवराज सिंह रेडियो कपिस्तान की जो हजारों घोषणाएं हैं उनकी बुनियादी और सालासर धोखे पर टिकी है शिवराज सिंह चौहान के 5 अगस्त 2023 को नौगांव में दिए गए इस बयान ने की गरीबों के बिजली के बिल बहुत आ रहे हैं खुद अपनी सरकार को बेकार कर दिया याद रहे कि इसी कमलनाथ के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार इंदिरा ग्रह ज्योति योजना लेकर आई थी जिसके तहत 150 यूनिट तक बिजली खपत करने वाले उपभोक्ताओं को पहले 100 यूनिट पर मात्र ₹1 यूनिट बिजली के बिल देना होता था कांग्रेस सरकार में एक करोड़ 15 लाख बिजली उपभोक्ताओं में से एक करोड़ 2000 उपभोक्ता जो 150 यूनिट तक बिजली खपत करते थे इस योजना के डायरी में आ गए थे तथा 87 लाख उपभोक्ताओं के बिजली का बिल ₹100 से काम आता था प्रदेश के किसानों को 44 पैसे प्रति यूनिट तक 10 हॉर्स पावर की मोटर कर चुकाने होते थे जो देश की सबसे सस्ती बिजली थी अब कांग्रेस ने वचन दिया है कि 100 यूनिट तक खपत करने वाले प्रदेश के बिजली उपभोक्ताओं को बिजली का कोई बिल नहीं चुकाना होगासाथ ही 200 यूनिट तक के उपभोक्ताओं का बिजली बिल हाफ हो जाएगा तथा 5 हॉर्स पावर तक की मोटर प्रयोग करने वाले किसानों को बिजली का कोई भी नहीं देना होगा भोपाल से मीनू गुप्ता की रिपोर्ट

https://youtu.be/ZEBMOZfISe0?si=7uE3Fb3c-Y435gUF

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button