मध्य प्रदेश

कोलारस MLA बीरेंद्र रघुवंशी ने बीजेपी की प्राथमिक सदस्यता से दिया इस्तीफा

धानसभा चुनाव से पहले BJP को बड़ा झटका, कोलारस MLA बीरेंद्र रघुवंशी ने बीजेपी की प्राथमिक सदस्यता से दिया इस्तीफा विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी को बड़ा झटका लगा है। दरअसल शिवपुरी के कोलारस से भाजपा विधायक बीरेंद्र रघुवंशी द्वारा भाजपा पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दिया गया है। विधायक का कहना है कि साढे तीन सालों में उन्होंने कई बार अपनी पीड़ा मुख्यमंत्री और शीर्ष नेतृत्व के सामने रखी लेकिन उनकी बातों पर ध्यान नहीं दिया गया है। जिसके कारण अब वह उपेक्षित महसूस कर रहे हैं। कोलारस विधायक बीरेंद्र रघुवंशी का कहना है कि पूरे ग्वालियर चंबल संभाग में बीजेपी के कार्यकर्ताओं की अपेक्षा पार्टी में आए नए भाजपाई द्वारा की जा रही है। इतना ही नहीं उन्होंने नवागत भाजपाई पर हर विकास कार्य में रुकावट डालने और कार्यकर्ताओं को परेशान करने का भी आरोप लगाया है एक तरफ जहां भाजपा अपने रूठे हुए पुराने साथियों को साधने की कोशिश में है। वहीं दूसरी तरफ भाजपा विधायक का इस्तीफा बीजेपी के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है। वही उनके कांग्रेस पार्टी में शामिल होने की अटकलें भी तेज हो गई है। बीरेंद्र रघुवंशी ने पार्टी को सौंपे अपने इस्तीफा में पार्टी के प्रति अपनी नाराजगी व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि आज भारी मन से भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता एवं विशेष आमंत्रित सदस्य प्रदेश कार्यसमिति के पद से मैं अपना इस्तीफा दे रहा हूँ। पिछले साढ़े 3 सालों से कई बार अपनी पीड़ा मुख्यमंत्री जी एवं शीर्ष नेतृत्व के सामने रखी पर कभी ध्यान नहीं दिया गया। पूरे ग्वालियर-चंबल संभाग में मेरे जैसे पार्टी के कई कार्यकर्ताओं की उपेक्षा नवागत भाजपाई करते रहे और यह सब आज तक हमारे साथ सिर्फ इसलिए होता रहा है। रघुवंशी ने कहा कि शिवपुरी जिले और कोलारस विधानसभा में भ्रष्ट्र अधिकारियों की पोस्टिंग की जा रही है। ऐसा इसलिए किया जा रहा है ताकि वे मेरे हर विकास कार्य में रूकावटें उत्पन्न कर सके व मुझे एवं मेरे कार्यकर्ताओं को परेशान कर सकें। सिंधिया ने यह कह कर कांग्रेस की सरकार गिराई थी कि किसानों का 02 लाख का कर्ज माफ नहीं किया जा रहा पर BJP की सरकार बनने के बाद सिंधिया जी ने किसान कर्ज माफी करना तो दूर आज दिन तक कर्जमाफी की बात तक नहीं की। शासन और प्रशासन को आड़े हाथ लेते हुए भाजपा विधायक ने कहा सरकार के मंत्री एवं प्रशासन के अधिकारी भ्रष्टाचार में डूब गए हैं। शिवपुरी जिले के प्रभारी मंत्री ने स्वयं मेरे विधानसभा क्षेत्र में रिश्वत मांगने के मामले में कहा कि “मंदिर में भी प्रसाद चढाते हैं, यह उसी तरह का नेग है और नेग तो देना पड़ेगा । भ्रष्टाचार ने प्रदेश को शर्मसार किया है, प्रशासन निरंकुश है, भाजपा के कार्यकर्ताओं और नेताओं की कोई सुनवाई नहीं है। रघुवंशी ने कहा शिवपुरी जिले सहित सम्पूर्ण प्रदेश में कॉपरेटिव बैंकों में किसानों की जमा पूंजी में ही सेंध लगाकर राशि का आहरण करने के बड़े घोटाले सामने आए। किसानों से की गई धोखाधड़ी के मामला सरकार के सामने आने के बाद भी विगत तीन वर्षों से किसान आज भी अपनी जमा राशि को बैंकों से निकालने के लिए चक्कर लगा रहे हैं। किसानों की जमा राशि का भुगतान उन्हें ही नहीं हो रहा है लेकिन सरकार द्वारा इसके लिए कोई कार्रवाई नहीं की जा रही हैं। कॉपरेटिव बैंकों के घोटाले विषय पर विधानसभा सदन में भी उनके द्वारा मुद्दा उठाया गया, चर्चा हुई लेकिन आज तक सरकार ने ठोस कार्रवाई नहीं की। जिससे किसान लगातार परेशान है। कोलारस विधायक ने कहा गौमाता के नाम पर वोट तो मांगे गए लेकिन गौमाता के पोषण के लिए कोई व्यवस्था नहीं की गई। बनाई गई गौशालाओं में से अधिकतर का संचालन नहीं हो रहा, जो संचालित हैं रघुवंशी ने कहा कि विधायक दल और पार्टी की बैठकों में प्रदेश हित के मुद्दे पर कोई चर्चा नहीं की जा रही है बल्कि भ्रष्ट मंत्रियों का बचाव आवश्यक किया जा रहा है। वह एक जनसेवक है और ऐसे वातावरण में घुटन महसूस कर रहे हैं। साथ ही उन्होंने पार्टी के शीर्ष नेतृत्व से उनका इस्तीफा स्वीकार करने की अपील की है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button